Uncategorized

Delhi Harinagar- देश की सुरक्षा बलों का आंतरिक सशक्तिकरण के लिए राष्ट्रिय अभियान का शुभारंभ हुआ- ​Launching of Self & National Empowerment Campaign

“देश की सुरक्षा बलों का आंतरिक सशक्तिकरण के लिए राष्ट्रिय अभियान का शुभारंभ हुआ”
“सुरक्षा बलों में आंतरिक शक्तियों के विकास से बाह्य परिस्थितियों के ऊपर विजय संभव”-वाइस एडमिरल घोरमड़े
“भौतिक व इन्द्रिय भोग की गुलामी से आजादी ही सच्ची स्वतंत्रता है” -प्रदीप दे, आईपीएस
न्यू दिल्ली, 7 नवंबर :  भारत आज़ादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष में, ब्रह्मा कुमारी संस्था की सुरक्षा सेवा प्रभाग द्वारा देश की सुरक्षा बलों के लिए “आत्म-सशक्तिकरण से राष्ट्र-सशक्तिकरण” विषय पर एक वर्षीय राष्ट्रीय अभियान का शुभारंभ हुआ।
सुरक्षा कर्मियों को चिंता, अशांति, तनाव व समस्त नकारात्मकता से दूर रखने, तथा उनमें राजयोग मेडिटेशन द्वारा सकारात्मक चिंतन, आशावादी दृष्टिकोण, तनाव प्रबंधन व आंतरिक सशक्तिकरण लाने की लक्ष को लिए हुए यह अभियान का शुभारंभ आज संस्था के स्थानीय हरी नगर राजयोग केन्द्र पर एक सार्वजानिक कार्यक्रम में किया गया।
भारतीय नौ सेना के वाइस चीफ, वाइस एडमिरल एस एन घोरमडे ने झंडा दिखा कर इस अभियान का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में उन्होंने कहा की देश को शक्तिशाली बनाना है, तो हर एक नागरिक को शक्ति शाली बनना होगा। क्यों की शक्तिशाली स्व स्थिति से ही प्रतिकूल परिस्थितियों के ऊपर विजय प्राप्त किया जा सकता है।
उन्होंने कहा, व्यक्ति की आंतरिक सशक्तिकरण से ही देश की सशक्तिकरण व विकास संभव है। “ख़ास कर देश की सुरक्षा बलों का भौतिक, नैतिक, सामरिक व आध्यात्मिक सशक्तिकरण से ही देश की शांति, सुरक्षा, समृद्धि स्वतंत्रता व अखंडता कायम रह सकता है”। उन्होंने अपनी पिछले दस सालों का ब्रह्मा कुमारी संस्था के राजयोग ध्यान अभ्यास का अनुभव सांझा करते हुए कहा की, यह राजयोग मेडिटेशन लोगों में, ख़ास कर सुरक्षा कर्मियों में शांति, संतुलन सुस्वास्थ्य, सकारात्मकता, आंतरिक शक्ति व कार्य कुशलता विकसित करने की कारगर माध्यम है।
उन्होंने आगे कहा की देश की जनता व जवानों को अधीक कुशल, स्वस्थ, सफ़ल, सुरक्षित व प्रगतिशील बनाने के लिए, उनमें आध्यात्मिकता व राजयोग मेडिटेशन के द्वारा श्रेष्ठ, उत्तम, आशावादी व सकारात्मक भावना, विचार, गुण और आंतरिक शक्तियों को विकसित करने की आवश्यकता है।
इस अवसर पर, नेशनल क्राइम रेकॉर्ड ब्यूरो प्रशिक्षण प्रभाग के अतिरिक्त निर्देशक, आईपीएस प्रदीप दे ने सन्मानीय अतिथि के रूप में बोले। उन्होंने कहा कि अनिश्चित व जोखिम भरा लगातार ड्यूटी के कारण पुलिस और सुरक्षा बलों के जीवन संघर्ष, तनाव व अनिश्चितता से भरा रहता है। ऐसे में, उनमें आंतरिक मनोबल, शांति, साहस व कार्य क्षमता बढ़ाने के लिए अध्यात्मिक ज्ञान और राजयोग ध्यान की जरूरत है। साथ ही उन्होंने आगे कहा, भौतिकता व इंद्रिय भोग की गुलामी से देश और देशवासियों को आजाद करना ही सच्ची स्वतंत्रता है। जो केबल लोगों की आध्यात्मिक सशक्तिकरण से ही सम्भव है।
अपनी आशीर्वचन में, ब्रह्मा कुमारी संस्था की सुरक्षा सेवा प्रभाग के उपाधक्ष्या राजयोगिनी बी के शुक्ला ने कहा की स्वाधीनता संग्रामियों के त्याग, तप और वालीदानों के कारण देश आजाद हुआ। ऐसे आज भी हमारे मिलिट्री, पैरामिलिट्री व पुलिस आदि देश की सुरक्षा बलों के धैर्य, साहस, वीरता, देश भक्ति, सहनशीलता, समर्पणमयता व कर्तव्यनिष्ठता के कारण देश की शांति, समृद्धि, स्वतंत्रता व अखंडता सुरक्षित है। भौतिकवादी मूल्यों एवं पश्चात सभ्यता की प्रभाव के कारण लोग आज भारत के मूल आदर्श, आध्यात्मिक परंपरा तथा नैतिक मूल्यों से दूर हो गए हैं। लेकीन, सुरक्षा बलों में वह मूल्यों, आदर्श, अनुशासन व देश भक्ति पुर्ण रूप में विद्यमान है, जिस के लिए देश वासी आज भी चैन की नींद ले रहे हैं। इसलिए, सुरक्षा कर्मियों के साथ साथ देश की हर नागरिक के लिए जरुरत है ऊंच भारतीय मूल्यों को अपनाने की। उन्हें अमल में लाने के लिऐ जरुरत है सततः सतर्कता, अटेंशन, चेकिंग, आध्यात्मिक ज्ञान व राजयोग मेडिटेशन के अभ्यास की।
इस कार्यक्रम को दिल्ली पुलिस वेस्ट डिस्ट्रिक्ट के एडिशनल डीसीपी सुबोध गोस्वामी, एनडीआरएफ के कमांडेंट पी के तिवारी, तिहाड़ जेल तमिलनाडू पुलिस के कमांडेंट सेंथिल कुमार, ब्रह्मा कुमारी संस्था के सुरक्षा प्रभाग अधक्ष्य स्क्वाड्रन लीडर अशोक गाबा आदि ने भी संबोधित किया।
ब्रह्मा कुमारी संस्था के वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बी के अस्मिता ने उपस्थित सुरक्षा कर्मियों को तनाव प्रबंधन विषय पर लेक्चर और मेडिटेशन कराई, छोटी कन्या दान्या ने देश भक्ति की गीत से सबको मंत्र मुग्ध किया। भारतीय नौ सेना के कैप्टन रजनीश ने अंत में धन्यवाद प्रस्ताव रखा।
Press Release
 
Year-Long National Inner Empowerment Campaign for Country’s Defence & Security Forces Launched Today
New Delhi, Nov. 7: As a part of India’s Amrit Mahotsav, an Year-Long country-wide Campaign on ‘Self & National Empowerment’ has been launched in a public function organised by the Brahma kumaris organization and it’s Security Services Wing at Hari Nagar Rajyoga Center here today.
The aim this nationwide campaign is to spread awareness on the need and efficacy of inner empowerment, mind and stress management through the practice of spiritual wisdom, rajyoga meditation, positive thinking and optimistic attitude among military, paramilitary and police forces all over India.
Defence and security service organisations and personnel across the nation will be reached and addressed by the expert faculty of the Security Services Wing of the Brahma kumaris  during the course of this awareness campaign which is already flagged off today and the campaign is scheduled to continue till August, next year.
Vice Chief of Naval Staff, Vice Admiral S N Ghormade addressing the launching function said that apart from material, technological and military empowerment, inner strengthening of mind, morals and spirits of country’s defence, police and security forces is all the more essential to eliminate stress, strain, negativity from their daily life and to enhance positivity, optimism, courage, creativity, wellness, wellbeing, work efficiency and growth effectiveness in them.
Narrating his fruitful experiment and experience of rajyoga meditation in Brahma kumaris’ organization for last ten years, he said that to achieve all-round progress & empowerment of our forces and to realize holistic & sustainable development of our country, practice and promotion of simple living, high thinking,  moral values, rajyoga meditation and character building as being taught by the organisation is highly imperative.
Mr Pradeep De IPS, Addl Director (Training), NCRB as Guest Speaker said that power of spirituality and meditation is indispensable not only to end our slavery to senses and materialism but also to contain stress, strain and anxiety accumulation in police and security forces who are prone to 24/7 risky and hazardous duties round the clock.
Rajyogini B K Shukla, Vice Chairperson of Security Services Wing of Brahma kumaris organization in her blessings said that the great spirit of struggle, sacrifice, penace and patriotism displayed by the freedom fighters for India’s independence, has also been deeply ingrained in our defence and security forces for whose vigilance and valiance we are safe and are peacefully resting in our homes today.
She said that India’s rich heritage of spiritual wisdom, rajyog meditation, universal values, simple, positive and healthy living should be adopted by all to make our lives, professions, sections and segments of society truly empowered, healthy, resourceful and developed.
Prominent among others who spoke the occasion, were Mr Subodh Goswami, Addl DCP, West District, Delhi Police; Mr P K Tiwari, Commandant, NDRF; Mr Senthil Kumar, Commandant, Tamil Nadu Police in Tihar Jail; Sqdn Leader Ashok Gaba, Chairperson, Security Services Wing of Brahma kumaris organization etc.
Senior Rajyoga Teacher Brahma kumari Ashmita conducted stress management and meditation session for the audience. Child artist Danya enthralled the gathering with her patriotic song and dance. Captain Rajneesh Kumar of Indian Navy offered vote of thanks.

#gallery-2 {
margin: auto;
}
#gallery-2 .gallery-item {
float: left;
margin-top: 10px;
text-align: center;
width: 33%;
}
#gallery-2 img {
border: 2px solid #cfcfcf;
}
#gallery-2 .gallery-caption {
margin-left: 0;
}
/* see gallery_shortcode() in wp-includes/media.php */

Source: BK Global News Feed

Comment here