Uncategorized

“श्री कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव”

“श्री कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव”

इंदौर,ब्रह्माकुमारीज ज्ञानदीप भवन ,गंगोत्री विहार सेवाकेंद्र मैं जन्माष्टमी पर्व मनाया गया, जिसका शुभारंभ अखिल भारतीय जैन युवा परिषद के अध्यक्ष अर्पित

जैन ,व्यापारी मनोज पांडे ,सीए सतीश पटेल, सीए सुरेश गुप्ता, ब्रम्हाकुमारी सीमा दीदी, ब्रम्हाकुमारी प्रतिमा दीदी एवं ललिता दीदी ने दीप प्रज्वलन की विधि द्वारा

किया, बाल कलाकारों ने श्री कृष्ण जी के गीतों पर नृत्य प्रस्तुत किया l श्रीकृष्ण जी की रासलीला का अलौकिक महत्व बताने के लिए बहुत सुंदर भक्त और श्री कृष्ण जी के संवाद पर आधारित नाटक का मंचन किया गया l  तिथियों ने सभी को जन्माष्टमी की बधाई दी l

भ्राता अर्पित जैन जी ने कहा कि जिसके जीवन में सरलता और शांति है वह सबसे अधिक सामर्थवान है , वह शांति और सरलता का अनुभव मैंने ब्रह्माकुमारी आश्रम पर आकर किया l

सेवा केंद्र प्रभारी ब्रह्मा कुमारी सीमा दीदी ने कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई देते हुए श्री कृष्ण जी की महानता एवं पवित्रता पर प्रकाश डाला दीदी ने बताया कि श्रीकृष्ण जो इतना पावन सतोप्रधान थे कि जिस की भक्ति से मीरा ने लोक लाज का त्याग करके पवित्रता की धारणा की,सूरदास ने संयास ले लिया ,तो श्री कृष्ण भला कैसे किसी का चीरहरण कर सकते हैं , उनके लिए तो गायन है 16 कला संपूर्ण ,संपूर्ण निर्विकारी मर्यादा पुरुषोत्तम अहिंसा परमो धर्म …,जो स्वयं संपूर्ण निर्विकार एवं मर्यादा पुरुषोत्तम है वह कैसे मर्यादा का उल्लंघन कर सकता है, जरूर इसका कोई अलौकिक रहस्य होगा जिसको हमें समझना अति आवश्यक है l

दीदी ने श्री कृष्ण जी की झांकी एवं व्रत का महत्व बताते हुए कहा की व्रत अर्थात संकल्प ,जैसे व्रत में भोजन को छोड़ते हैं, ऐसे हमें व्रत लेना है अपनी किसी बुराई को छोड़ने का और सद्गुणों को धारण करने का l ब्रह्मा कुमारी ललिता दीदी ने मंच संचालन किया l

Source: BK Global News Feed

Comment here