Uncategorized

ब्रह्मा कुमारीज गंगोत्री विहार इंदौर.. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 तन मन के स्वास्थ्य संजीवनी “राजयोग”

ब्रह्मा कुमारीज गंगोत्री विहार इंदौर..
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 तन मन के स्वास्थ्य संजीवनी “राजयोग”
योग का अर्थ है- बेहतर स्वास्थ्य और जीवन पर नियंत्रण ,तथा राजयोग का अर्थ है- स्वराज्य अधिकारी बनना अर्थात अपनी स्थूल और सूक्ष्म कर्मेंद्रियों जैसे मन, बुद्धि, संस्कारो को अनुशासित करना।

योग शब्द से ही हमारे सामने व्यायाम, आसन-प्राणायाम करने वाली छवि उभर आती है, किंतु योग केवल अंगमर्दन की क्रिया तक ही सीमित कर देना योग के साथ अन्याय होगा !किंतु सवाल यह उठता है कि क्या तन के दुरुस्त होने को ही स्वास्थ्य कहेंगे? नहीं ना। लेकिन तन के साथ मन को चुस्त-दुरुस्त कैसे किया जाए जिससे सुख,शांति, समृद्धि का निरंतर प्रवाह बना रहे। तो इस कड़ी की पूर्ति करता है सहज राजयोग ,इससे ही तन और मन दोनों स्वस्थ रहेंगे जैसा कि हम चाहते हैं।
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून वर्ष 2021 के योग दिवस की थीम है “स्वास्थ्य के लिए योग घर पर रहते हुए योग करना” इसी थीम को मध्य बिंदु रखते हुए ब्रह्माकुमारीज इंदौर, गंगोत्री विहार सेवाकेंद्र द्वारा 21 जून 2021 को योग दिवस मनाया गया जिसमें कई भाई बहनों ने शामिल होकर शारीरिक योग एवं राजयोग का लाभ लिया।
ब्रह्माकुमारी प्रतिमा दीदी ने बताया कि शारीरिक योगा तो हमारे शरीर को सुदृढ़ एवं स्वस्थ बनाता है लेकिन राजयोग न केवल हमारे शरीर को अपितु मन को भी स्वस्थ शुद्ध एवं शक्तिशाली बनाता है ,जिसकी आज समाज को अति आवश्यकता है, क्योंकि इस कोरोना काल में मनुष्य की मृत्यु कोरोनावायरस से कम लेकिन कोरोना के डर एवं चिंता से अधिक हुई है, दीदी ने बताया कि तन मन के स्वास्थ्य की संजीवनी है “राजयोग”। राजयोग हमें संपूर्ण स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है ,
राजयोग अर्थात इनर पावर सुप्रीम पावर से कनेक्शन। जब हम स्वयं को राजयोग द्वारा सर्वशक्तिमान से जोड़ते हैं तो उनकी हीलिंग एनर्जी से कई शारीरिक एवं मानसिक बीमारियां ठीक होती है ,क्योंकि शिव को वैद्यनाथ भी कहा जाता है । दीदी ने बताया कि राजयोग का अभ्यास करने वाले कई भाई बहनों ने अपनी गंभीर बीमारियों पर विजय प्राप्त की ,जैसे- हाई ब्लड प्रेशर,शुगर, कैंसर, डिप्रेशन ,अनिंद्रा जैसी बीमारी को राजयोग से ठीक किया। दीदी ने कहा कि हमें आसन और प्राणायाम तो करना ही है लेकिन साथ-साथ राजयोग का अभ्यास भी शामिल करना है
कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन से हुई, दीप प्रज्वलन में डॉ ए.के. जैन डायरेक्टर – इंटरनेशनल नेचरोपैथी ऑर्गेनाइजेशन, योगाचार्य- बृजेश गुप्ता जी, पत्रकार -निरंजन गुप्ता जी, डॉ. आर.एन मिश्रा जी, सेवाकेंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी सीमा दीदी, वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका ब्रम्हाकुमारी प्रतिमा दीदी और ब्रह्माकुमारी ललिता दीदी शामिल थे
कार्यक्रम में योगाचार्य बृजेश गुप्ता जी द्वारा शारीरिक योगासन एवं प्राणायाम कराए गए,

इस अवसर पर कोरोना वारियर्स जिन्होंने रात दिन कोरोना काल में अपनी जान की परवाह किए बिना सेवा दी उन्हें याद किया गया ,एवं कोरोना के कारण शरीर छोड़ने वालों को कैंडल लाइट जलाकर और राजयोग कमेंट्री द्वारा शांति का दान दिया गया।
मंच संचालन ब्रह्माकुमारी ललिता दीदी द्वारा किया गया।

Source: BK Global News Feed

Comment here