Uncategorized

बापदादा के अमूल्य नूरे रत्न समिता बहनजी को समाज सेवा प्रभाग की ओर से भावभीनी श्रद्धांजलि

प्राण प्यारे बापदादा के अति अमूल्य नूरे रत्न त्याग, तपस्या और सेवा की प्रतिमूर्ति अथक सेवाधारी सर्व ब्राह्मण परिवार की स्नेही बी. के. समिता (सोमी )बहन (उम्र-54), मंदसौर ने आज अभी 11ः15 बजे अपना पुराना शरीर छोड़ बापदादा की गोद में चली गई। विगत 1 माह से आपका स्वास्थ्य ठीक नहीं था, इंदौर के शैलबी हास्पीटल में इलाज चल रहा था।
 
आप रायपुर से ज्ञान में निकली और 38 वर्षो से समर्पित रुप से अपनी सेवायें दे रही थी । आपने पूर्व में छत्तीसगढ़ के सेवाकेन्द्रों में अपनी सेवायें दी, तत्पश्चात इंदौर, खण्ड़वा आदि स्थानों पर सेवायें करते 27 वर्ष पूर्व मंदसौर में सेवा अर्थ गई। आप पूरे मंदसौर जिले में कई सेवाकेंद्रों और गीता पाठशालायें खोलने के निमित्त बनीएवं उसका कुशल संचालन कर रही थी। आपने बहुत अच्छा बाबा का भवन भी बनाया।आप ने समाज के हर क्षेत्र में अपनी सेवायें दी है प्रशासनिक, राजनीतिक, धार्मिक आदि आप संस्था के समाज सेवा प्रभाग की जोनल क्वार्डिनेटर थी। आप स्वाभाव से सरलचित्त , मिलनसार , आज्ञाकारी और कर्मठ सेवाधारी थी। 
ऐसी बापदादा की और सर्व की स्नेही मीठी सोमी बहन को समाज सेवा प्रभाग की ओर से एवं सर्व ब्राह्मण परिवार की ओर से दिल से श्रद्धासुमन अर्पित करते हैं।

Source: BK Global News Feed

Comment here