Uncategorized

ब्रह्माकुमारी संस्थान की मुखिया 93 वर्षीय दादी हृदयमोहिनी का देहावसान

सादर प्रकाशनार्थ
ब्रह्माकुमारी संस्थान की मुखिया 93 वर्षीय दादी हृदयमोहिनी का देहावसान

प्रमुख तथ्य:
– दिव्य दृष्टि का था वरदान, 1969 से 2016 तक परमात्मा के संदेशवाहक की निभाई भूमिका
– एक साल पहले दादी जानकी के निधन के बाद नियुक्त की गई थीं मुख्य प्रशासिका
– आठ साल की उम्र में ब्रह्मा बाबा द्वारा खोले गए बोर्डिंग स्कूल में लिया था प्रवेश
– वर्ष 1928 में कराची में हुआ था जन्म,
– विश्व के कई देशों में जाकर दिया आध्यात्मिकता का संदेश
– नार्थ उड़ीसा विश्वविद्यालय ने 2017 में डॉक्टर ऑफ लिटरेचर की उपाधि से किया था विभूषित

रायपुर,11 मार्च, 2021: प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की मुख्य प्रशासिका ब्रह्माकुमारी दादी हृदयमोहिनी का गुरुवार सुबह 10.30 बजे देवलोकगमन हो गया। उन्होंने 93 वर्ष की आयु में मुम्बई के सैफी हास्पिटल में अंतिम सांस ली। उन्हें दिव्य बुद्धि का वरदान प्राप्त था। एयर एंबुलेंस से उनके पार्थिव शरीर को शांतिवन आबू रोड लाया जाएगा। अंतिम संस्कार संस्थान के शांतिवन में 13 मार्च को किया जाएगा। दादी के निधन पर राष्ट्रपति से लेकर प्रधानमंत्री और राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने शोक व्यक्त करते हुए भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी है। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उइके, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पूर्व मख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक आदि ने भी दादी जी के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

ब्रह्माकुमारीज द्वारा जारी विज्ञप्ति में बतलाया मया है कि राजयोगिनी दादी हृदय मोहिनी जी का स्वास्थ्य ठीक नहीं होने से मुम्बई के सैफी हॉस्पिटल में आपका कुछ समय से स्वास्थ्य लाभ चल रहा था। दीदीजी के निधन की सूचना पर संस्थान के भारत सहित विश्व के 140 देशों में स्थित सेवाकेन्द्रों पर शोक की लहर दौड़ गई।

प्रेषक: मीडिया प्रभाग,
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय
रायपुर फोन: 0771-2253253, 2254254


for media content and service news, please visit our website-
www.raipur.bk.ooo

Source: BK Global News Feed

Comment here