Uncategorized

ब्रह्माकुमारीज के युवा प्रभाव द्वारा युथ फ़ॉर ग्लोबल पीस राष्ट्रीय प्रोजेक्ट 2021 के अंतर्गत फरवरी माह की थीम हारमनी इन रिलेशंस – द ट्रू लव विषय पर कार्यक्रम आयोजित किया गया

ब्रह्माकुमारीज के युवा प्रभाव द्वारा युथ फ़ॉर ग्लोबल पीस राष्ट्रीय प्रोजेक्ट 2021 के अंतर्गत फरवरी माह

की थीम स्नेह पर 14 फरवरी वैलेंटाइन डे पर ब्रह्माकुमारीज इंदौर गंगोत्री विहार द्वारा युवाओं के लिए

हारमनी इन रिलेशंस – द ट्रू लव विषय पर कार्यक्रम आयोजित किया गया

जिसका उद्घाटन ब्रह्माकुमारी सीमा दीदी, ब्रह्माकुमारी प्रतिमा दीदी, ब्रह्मा कुमारी ललिता दीदी तथा

माननीय कमल सेठी जी  प्रखर प्रवक्ता एवं समाजसेवी, माननीय पुरुषोत्तम गुप्ता जी आर एस एस के

क्षेत्रीय प्रमुख और प्रसिद्ध युवा गायक लवेश जैन जी द्वारा किया गया

सेवाकेंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी सीमा दीदी ने वैश्विक शांति एवं प्यार भरी दुनिया के नव निर्माण के लिए  फरवरी माह की थीम स्नेह पर   चार गति विधियां  बताई- 1.स्वमं के लिए प्यार  अर्थात अपने आप का ख्याल रखें।

2.लोगों के लिए प्यार अर्थात उन्हें धन्यवाद दे, क्षमा करें।

3.प्रकृति के लिए प्यार अर्थात प्रकृति के साथ चलें।

4.ईश्वर के प्रति प्यार तो ईश्वर को पत्र लिखें।

जब हम स्वयं को प्यार और सम्मान देंगे तो दूसरे भी हमें प्यार और सम्मान देंगे ,दीदी ने आगे बताते हुए कहा कि रोज सुबह हम अपने को सकारात्मक सुझाव दें तो हमारा जीवन बदल जाएगा। दीदी ने सभी को गहन राजयोग की अनुभूति कराई|

ब्रह्माकुमारिज का राजयोग मेडिटेशन बना मेरे हताश जीवन के कायाकल्प का आधार- ब्रह्माकुमार कमल भाई

कमल भाई ने अपने जीवन परिवर्तन का अनुभव सुनाते हुए कहा कि ब्रह्माकुमारी का राजयोग मेडिटेशन हमें ईश्वर से प्रेम पूर्ण संबंध जोड़ना सिखाता है जिससे हमारे बुरे संस्कारों का परिवर्तन करना आसान हो जाता है।

कुमारी परी ने सुंदर डांस प्रस्तुत किया, और भ्राता लवेश जैन जी ने अपने ईश्वरीय प्रेम से भरपुर गीत से सभी को सराबोर किया।

ओजस्वी वाणी की धनी ब्रह्माकुमारी ललिता दीदी ने मंच संचालन किया और  ब्रह्माकुमार राहुल भाई

ने प्रतिज्ञा कराई। कमल सेठीजी ने महापुरुषों द्वारा प्रेम पर दिए गए सन्देश से सभी श्रोताओ को

अवगत कराया।माननीय पुरुषोत्तम गुप्ता जी ने युवाओं को भारतीय संस्कृति के महत्व को बताया और

उसे अपनाने का आग्रह किया।

Source: BK Global News Feed

Comment here