Uncategorized

ओमप्रकाश भाईजी के 5 वीं पुण्य तिथि पर ऑनलाइन मीडिया प्रोग्राम

मीडिया समाज को शिक्षित करने का काम करे – डॉ रजनीश शुक्ल
इंदौर, 21 दिसम्बर। मीडिया द्वारा स्वयं को व्यापार समझने के कारण चुनौतियां उत्पन्न हुई हैं। आज जब विश्व में समाज और परिवार संकट में है तब मीडिया की जिम्मेदारी बढ़ गई है। आज मीडिया को संस्कार निर्माण का काम करना है। मीडिया समाज को शिक्षित करने का काम करे। बुराइयों को खत्म करने की भूमिका में आगे आना होगा। मीडिया के माध्यम से समाज कोमूल्य निष्ठ बनाया जा सकता है। उक्त उद्गार महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय, वर्धा(महाराष्ट्र) के कुलपति डॉ रजनीश शुक्ला ने राजयोग शिक्षा एवं अनुसन्धान प्रतिष्ठान के मीडिया प्रभाग के पूर्व अध्यक्ष एवं इंदौर जोन के पूर्व क्षेत्रीय निदेशक राजयोगी ब्रह्माकुमार ओम प्रकाश ‘भाईजी‘ के पंचम पुण्य स्मरण दिवस पर आयोजित ऑनलाईन मीडिया वेबिनार (मीडिया संवाद) में मुख्य अतिथि के रुप में संबोधित करते हुए व्यक्त किए। आपने मीडिया के क्षेत्र में योगदान के लिए ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के प्रयासों की सराहना की।
भारतीय जन संचार संस्थान, नई दिल्ली के महानिदेशक संजय द्विवेदी ने कहा कि ब्रह्माकुमारी संस्थान व्यक्ति और समाज निर्माण का अत्यन्त महत्वपूर्ण कार्य कर रही है। इस कार्य में और अधिक गति लाने की आवश्यकता है। क्योंकि समाज श्रेष्ठ होगा तो हर चीज श्रेष्ठ होगी। इस कार्य में आध्यात्मिक और शैक्षणिक संस्थाओं को बड़ी भूमिका निभानी होगी। उन्होंने ब्रह्माकुमार ओमप्रकाश भाई जी को याद करते हुए कहा कि उन्होंने मीडिया जगत को अध्यात्म के साथ जोडने का सराहनीय कार्य किया। हम उनके पदचिन्हों पर चलकर मानवीय मूल्यों को जीवन में अपना सकते हैं।
वेबीनार की अध्यक्षता करते हुए मीडिया प्रभाग के अध्यक्ष ब्रह्माकुमार करूणा भाई ने कहा कि यह पहली बार हुआ है कि एक बीमारी ने पूरे विश्व को जकड़ रखा है, ऐसे कठिन समय में मीडिया के उपर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। सत्यम शिवम सुन्दरम…का सन्देश मीडिया ही समाज को दे सकता है। वर्तमान समय यह सन्देश देने की जरूरत है कि पूरा विश्व एक परिवार है, और हमें ऐसे समय में एक दूसरे का सहारा बनना है।
मीडिया संवाद कार्यक्रम में स्वागत भाषण राजयोगिनी हेमलता दीदी ने दिया। उन्होंने ओम प्रकाश भाई जी का स्मरण करते हुए कहा कि सूचना क्रांति के युग में हम सभी कार्य ऑनलाइन कर रहे हैं। दुनिया सिमट कर छोटी हो गई है। मीडिया समाज में ऐसा वातावरण बनाए जिसमें सभी भयमुक्त होकर रहें। मीडिया औद्योगिक घरानों के हाथों का खिलौना बन कर ना रहे। मीडिया को अपनी जिम्मेदारी समझना चाहिए। मूल्य मानव के गहने हैं।
माउण्ट आबू से प्रकाशित ज्ञानामृत के सम्पादक एवं मीड़िया प्रभाग के उपाध्यक्ष ब्रह्माकुमार आत्मप्रकाश भाई ने कहा कि मीडिया समाज का मार्गदर्शन कर सकता है। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा सकारात्मक विचारों को प्रसारित करने की आवश्यकता है। आपने ब्रह्माकुमार ओमप्रकाश भाईजी के साथ बिताये पलों का स्मरण किया।
मूल्यानुगत मीडिया के संपादक प्रोफेसर कमल दीक्षित ने मीडिया संवाद कार्यक्रम के विषय को बहुत ही समसामयिक और आज की जरूरत बताया। आपने कहा कि मूल्य धीरे-धीरे बिखर रहे हैं। समाज व्यक्ति केंद्रित हो गया है। सर्वकालिक मूल्य बिखरने से समाज टूट रहा है। हमारी स्पर्धा के मूल्य भी बदल गए हैं। मीडिया समाज की सेवा के लिए है, समाज को अपडेट करने के लिए है। अध्यात्म ही एकमात्र ऐसा उपाय है जो इन सब को बदल सकता है।
इन्दौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अरविन्द तिवारी ने कहा कि श्रेष्ठ समाज के निर्माण में मीडिया को अहम भूमिका निभानी होगी। ब्रह्माकुमार ओमप्रकाश भाई जी इन्दौर शहर के गौरव थे। उन्होंने यहाँके जनमानस को इस संस्थान से जोडने में सफलता प्राप्त की।
कार्यक्रम में इंदौर जोन के मेडिकल विंग के क्षेत्रीय समन्वयक ब्रम्हाकुमारी उषा बहन ने वेबिनार में मौजूद सभी सदस्यों को मेडिटेशन का अभ्यास कराया। वेबीनार का संचालन जन संचार विभाग कबचै उत्तर महाराष्ट्र विश्व विद्यालय जलगाँव के डॉ सोमनाथ बडनेरे ने कार्यक्रम का कुशल संचालन किया और आभार ब्रम्हाकुमारी अनीता बहन इंदौर ने माना। दुर्ग छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध गायक ब्रह्माकुमार युगरतन ने मीडिया में मूल्यों की संकल्पना लिये बहुत सुंदर गीत प्रस्तुत किया।

Source: BK Global News Feed

Comment here