Uncategorized

Rajgarh,m.p.:- Ganesh chaturthi.

*ब्रह्माकुमारी संस्थान द्वारा ज़ूम पर मनाया गणेश चतुर्थी महोत्सव* ।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय राजगढ़ द्वारा गणेश चतुर्थी महोत्सव मनाया तथा संस्था से जुड़े जिले भर के भाई बहनों को ऑनलाइन गणेश जी के दर्शन कराए गए।
खिलचीपुर उप सेवा केंद्र संचालिका ब्रह्माकुमारी नीलम दीदी ने गणेश चतुर्थी का आध्यात्मिक रहस्य बताते हुए कहा “कि गणेश जी के चार हाथ तथा चारों हाथों में क्रमशः कुल्हाड़ी , मोदक , रस्सी तथा वरदानी हाथ दिखाया जाता है जोकि दर्शाता है कि हमें मोह माया को सत्कर्म रूपी कुल्हाड़ी से काटकर एक दूसरे को स्नेह रुपी रस्सी से बांधकर संबंधों में मधुरता रूपी मिठास मिलाकर मोदक अर्थात मिलनसारीता का गुण अपनाना चाहिए । वरदानी हाथ का अर्थ सर्व के प्रति शुभ भावना रखना बताया। इसी प्रकार बड़ा पेट सामाने की शक्ति का प्रतीक है ,बड़े कान किसी की निंदा चुगली नहीं सुनना, छोटा मुख कम बोलना अधिक सुनना ,छोटी आंखें अर्थात एकाग्रता से परिस्थिति को परखना फिर निर्णय लेना , एकदंत बुराइयों को मिटाकर अच्छाइयों को धारण करना, वक्रतुंड शक्तिप्रदर्शन व नम्रता का बैलेंस रखना बताया।
चूहे का रहस्य बताते हुए कहा कि हमें इच्छाओं तथा अशुद्ध कामनाओं को नियंत्रण में व मन को संयमित रखना है। उन्होंने आगे कहा कि इस प्रकार से जीवन में उक्त गुणों को धारण कर लेने से परमात्मा शिव द्वारा हमें दिव्य बुद्धि तथा यथार्थ निर्णय करने की विधि जो कि रिद्धि- सिद्धि के रूप में दिखाया जाता है की प्राप्ति होती है जिससे जीवन में संतोषी रूपी अविनाशी फल मिलता है हैं, व सर्व विघ्न स्वतः समाप्त हो जाते हैं। इस अवसर पर जिले से जुड़े सैकड़ों सदस्यों ने ज़ूम पर इस कार्यक्रम का लाभ लिया।
कार्यक्रम की शुरुआत में राजगढ़ जिला प्रभारी ब्रह्माकुमारी मधु दीदी, तलेन सेवा केंद्र संचालिका ब्रह्मा कुमारी लक्ष्मी, सारंगपुर सेवा केंद्र प्रभारी बीके भाग्यलक्ष्मी, जीरापुर सेवा केंद्र प्रभारी बीके नम्रता ,पचोर सेवा केंद्र प्रभारी बीके वैशाली एवं खिलचीपुर सेवा केंद्र प्रभारी बीके नीलम ने दीप प्रज्वलन किया।

Source: BK Global News Feed

Comment here