Uncategorized

मुरली की विशेष बातें


आज की मुरली की विशेष बातें
कविता में है समायी
सोने से पहले एक बार रिवाइज
अवश्य कर लो मेरे भाई

घोट घोट कर लो ये पक्की बात
हम आत्माये बच्चें है परमात्मा है बाप
देह अभिमान को जितना मिटाओगे
आत्म अभिमानी उतना बनते जाओगे
भक्ति में देखा आर्टिफिशियल
मेलो का झूठा खेला
पर संगम पर पाया आत्मा से परमात्मा मिलन का वंडरफुल मेला
पांच विकारो की गंदगी
बिल्कुल न छूटेगी
कर्म इन्द्रियों की चंचलता
योगबल से ही टूटेंगी
बाप ने हमको सहज रास्ता है बताया
योग से कर्म इन्द्रियों को वश कर
देवीगुणो को धारण कराया
माला का गुहिय राज है समझाया
माला फेरते जब फूल आया
राम कह उसे आंखों पर लगाया
जपना एक फूल है शिवबाबा को
बाको को पवित्र रचना है बताया
ड्रामा में जो होगा वही मिलेगा
अगर ऐसा सोचकर बैठ जायेंगे
तो स्वर्ग में ऊंच पद नही पाएंगे
कर्म बिगर कोई रह नही सकता
कर्म सन्यास हो नही सकता
याद की शक्ति का जौहर है भरना
निर्बल में बल भर सच्चा
सेवाधारी है बनना।


✨ओम शांति🙏

Source: BK Global News Feed

Comment here