Uncategorized

Two days Stress management program

राजयोग के द्वारा सीखे जीवन जीने की कला – डां स्वामीनाथन

ब्रह्माकुमारीज़ जानकीपुरम लखनउ द्वारा शनिवार 23 फरवरी और रविवार 24 फरवरी को केंद्रीय लोक निर्माण में दो दिवसीय तनाव प्रबंधन कार्यक्रम रख गया था जिसमेें मुख्य वक्ता डां ई वी स्वामीनाथन और केंद्रीय लोक निर्माण के ADG हरनाम सिंह जी और ITBP के IG एस एस मिश्रा जी मौजूद थे । डां स्वामीनाथन ने बताया कि आज हर घर का वातावरण तनाव ग्रस्त हो गया है जिस कारण जीवन से सुख शांति गायब होती जा रही हैं जिन्दगी मे जब तक जिसके साथ है उसके साथ का भरपूर फायदा उठाने सबने हमारा ख्याल रखा अब हम सबका ख्याल रख सबके लिये समय निकले और बोझिल वातावरण को संबंधों को मधुरता से खुशनुमा बनाये तो यही परिवार हमारे जीवन के लिए सुरक्षा चक्र बन जायेगा जो हर परिस्थिति से अभेद होगा और यही पत्थर ईंट का मकान खुशियां का आंगन बन जायेगा घर को स्वर्ग बनाने के लिए थोड़ा स्वयं पर अटेनश ही की जरूरत है। हर ताले का एक चाभी जरूर होती है उसी प्रकार हर समस्या का समाधान है अवश्क होता है बस शांति के साथ थोड़ा धीरज रखकर हल खोंजें। समस्याओं से न घबराये न किसी को घबराने दें, अपनी स्थिति को न बिगड़ ने दें परिस्थिति तो हल ही हो जायेगी, सुखी जीवन जिये सुखमय परिवार बनायें। जैसे प्रतिदिन हम शरीर को सुदृढ़ व स्वस्थ रखने के लिए भोजन करते है वैसे ही संगीत भी मन को सुकून देकर एक प्रकार से भोजन का ही कार्य करता है। संगीत हमारी ऊर्जा को बढ़ाकर हमारी कार्यक्षमता को बढ़ाता है और मन को खुशी प्रदान कर उसे हल्का रखकर तनाव से बचाता है। संगीत तो प्रकृति के पेड़-पौधों पर भी प्रयोग करके देख गया है अपनी दिनचर्या में प्रतिदिन अगर थोड़ा सा भी समय अगर संगीत को दे और तनाव की स्थिति में भी अगर हम सुमधुर संगीत का रखकर अगर हम करें तो भी तनाव की मुक्ति किसी सकती है।

Source: BK Global News Feed

Comment here