Uncategorized

कादमा(हरियाणा) : ब्रह्मा बाबा का 51 वां स्मृति दिवस

त्याग, तपस्या और सेवा की प्रतिमूर्ति थे प्रजापिता ब्रह्माबाबा जिन्होंने समूचे विश्व को आध्यात्मिक व मानवीय मूल्यों का पाठ पढ़ा विश्व नवनिर्माण में अपना योगदान दिया ये उद्गार प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की कादमा शाखा में उनके 51 वें स्मृति दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में सेवा केंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी वसुधा बहन ने व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारी संस्था समूचे विश्व में ब्रह्मा बाबा के स्मृति दिवस को “विश्व शांति दिवस” के रूप में मना रही है।आज 140 देशों में 20 लाख लोग ब्रह्मा बाबा के पद चिन्हों पर चलकर अपने जीवन को व्यसन मुक्त बना दिव्य गुणों से सुशोभित कर रहे हैं। ब्रह्माकुमारी बहन ने कहा कि प्रजापिता ब्रह्मा बाबा ने माताओं बहनों को आगे रखकर ब्रह्माकुमारी संस्था का कारोबार आगे बढ़ाया। ब्रह्मा बाबा बचपन से ही बहुत धर्म परायण तथा भक्ति भाव में लीन रहते थे 60 वर्ष की आयु में उनके तन में परमात्मा शिव की प्रवेशता हुई और नई दुनिया की स्थापना का रहस्य समझाया। परमात्मा शिव ने ही इनका नाम प्रजापिता ब्रह्मा रखा। उन्होंने कहा की पिता श्री ब्रह्मा का व्यक्तित्व बहुत प्रभावशाली, मधुर स्वभाव, बौद्धिक प्रतिभा, व्यापारी कुशलता, व्यवहारिक शिष्टता, अथक परिश्रमी, श्रेष्ठ स्वभाव एवं जवाहरात के पारखी थे। वसुधा बहन ने कहा कि पिताश्री ने माताओं बहनों का ट्रस्ट बनाकर अपनी समूची चल एवं अचल संपत्ति उस ट्रस्ट को मानव मात्र की ईश्वरीय सेवा में समर्पित कर आध्यात्मिकता की ज्योति समूचे विश्व में जगा 18 जनवरी 1969 को अपना दैहिक क्लेवर परित्याग कर संपूर्णता को प्राप्त हुए।  ब्रह्माकुमारी वसुधा बहन ने सभी को दृढ़ प्रतिज्ञा करवाते हुए कहा कि हम सभी  आज इस विश्व शांति दिवस पर यह दृढ़ संकल्प लें की अपने जीवन में आध्यात्मिक, नैतिक एवं मानवीय मूल्यों को धारण कर समाज में शांति, एकता, सद्भावना के लिए कार्य करेंगे। यही उनके लिए सच्ची सच्ची श्रद्धांजलि होगी। इस मौके पर सैकड़ों ब्रह्माकुमार भाई बहनों ने गहन शांति की तपस्या कर ब्रह्मा बाबा को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

#gallery-1 {
margin: auto;
}
#gallery-1 .gallery-item {
float: left;
margin-top: 10px;
text-align: center;
width: 33%;
}
#gallery-1 img {
border: 2px solid #cfcfcf;
}
#gallery-1 .gallery-caption {
margin-left: 0;
}
/* see gallery_shortcode() in wp-includes/media.php */

Source: BK Global News Feed

Comment here