Uncategorized

प्रेस विज्ञप्ति – पवित्र कन्या करती है 21 कुल का उद्धार – ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी

सादर प्रकाषनार्थ
प्रेस विज्ञप्ति

पवित्र कन्या करती है 21 कुल का उद्धार – ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी

मानवता की सेवा के लिए ब्रह्माकुमारी पूर्णिमा बहन ने किया जीवन समर्पित
षिव संग जोड़ी प्रीत, षिवलिंग को वरमाला पहनाकर भगवान षिव को बनाया जीवनसाथी
ईष्वरीय सेवाओं हेतु कन्यादान के लिए समर्पित ब्रह्माकुमारी बहनों के माता-पिता का किया गया सम्मान
सांस्कृतिक प्रस्तुतियों व मंजू दीदी के करूण उद्बोधन से सभी की आंखें हुई नम
ब्रह्माकुमारीज़ टिकरापारा सेवाकेन्द्र की स्थापना के 40वें वर्ष में प्रवेष पर मनाया गया उत्सव
ग्रामवासियों के साथ मनाया गया नववर्ष स्नेह मिलन, ब्रह्माभोजन का भी किया गया आयोजन
नववर्ष पर लिए गए संकल्पों की पुनरावृत्ति कराते हुए उस पर अमल करने किया प्रेरित
सेवाकेन्द्र के हार्मनी हॉल में हुआ भव्य कार्यक्रम का आयोजन

#gallery-7 {
margin: auto;
}
#gallery-7 .gallery-item {
float: left;
margin-top: 10px;
text-align: center;
width: 33%;
}
#gallery-7 img {
border: 2px solid #cfcfcf;
}
#gallery-7 .gallery-caption {
margin-left: 0;
}
/* see gallery_shortcode() in wp-includes/media.php */


बिलासपुर, टिकरापाराः- कहते हैं श्रेष्ठ कन्या वह, जो 21 कुल का उद्धार करे। जब कुमारी बहनें अपना जीवन भगवान को समर्पित करती हैं तो वह अपने 21 कुल को श्रेष्ठ तो बनाती ही हैं साथ ही अनेक मनुष्य आत्माओं को ईष्वरीय ज्ञान दे उनके जीवन को संवार कर उनके भी 21 जन्मों को श्रेष्ठ बना देती हैं।
उक्त बातें ब्रह्माकुमारीज़ टिकरापारा सेवाकेन्द्र में आयोजित बहुआयामी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सेवाकेन्द्र प्रभारी ब्र.कु. मंजू दीदी जी ने कही। लोगों को सत्य मार्ग दिखाने व परमात्म अवतरण के संदेष को जन-जन तक पहुंचाने के नेक उद्देष्य को लेकर ब्रह्माकुमारी पूर्णिमा बहन ने अपना पूरा जीवन मानवता की सेवा में समर्पित कर दिया। पूर्णिमा बहन ने 13 वर्ष पूर्व ईष्वरीय ज्ञान लिया और पिछले आठ वर्षों से सेवाकेन्द्र पर रहकर अपनी विषेषताओं को ईष्वरीय कार्यों में लगाकर अपना जीवन सफल कर रही हैं।
रीति रस्म को निभाते हुए रचाया अनोखा विवाह
जिस समय ब्रह्माकुमारी पूर्णिमा बहन ने भगवान षिव की यादगार प्रतिमा षिवलिंग पर वरमाला डालकर उन्हें जीवनभर के लिए अपने हमसफर के रूप में स्वीकार किया तब पूरी सभा में तालियों की गड़गड़ाहट गूंजने लगी। इस अवसर पर पूर्णिमा बहन के माता-पिता का प्रतिनिधित्व करने दुर्ग से पधारे लक्ष्मीनारायण भाई व हीरो माता ने उनका हाथ मंजू दीदी के हाथ में देते हुए कन्यादान किया।
सेवाकेन्द्र के 40वें वर्ष में प्रवेष पर मनाया गया उत्सव
टिकरापारा में शरद बल्हाल जी के मकान में आज से 39 वर्ष पूर्व एक छोटे से कमरे में ब्रह्माकुमारी पाठषाला की शुरूआत हुई थी जिसका संचालन शुरूआत में मंजू दीदी जी की माता जी सरिता बल्हाल जी करती रहीं। निरंतर मेहनत, त्याग व तपस्या से कारवां बढ़ता गया और यह पाठषाला आज 11 ब्रह्माकुमारी बहनों के माध्यम से एक सेवाकेन्द्र के रूप में सेवाएं दे रहा है। पाठषाला के शुरूआत के साधक धना माता, सरिता बल्हाल, शरद बल्हाल को शॉल व श्रीफल भेंट कर बहनों ने सम्मानित किया और उनके द्वारा दीप प्रज्वलन कर 40वें वर्ष में प्रवेष की खुषियां मनाई। सभी समर्पित ब्रह्माकुमारी बहनों के माता-पिता का भी सम्मान किया गया।
साथ ही रोहिणी विहार, जरहाभाटा निवासी जनकराम क्षत्री जी व देवन्ता भाई के ईष्वरीय ज्ञान में चलने के 25 वर्ष पूर्ण होने पर रजत जयंती का भी यह अवसर था। दीदी ने बताया कि इन 25 वर्षों में जनक भाई ने पीडल्यूडी की शासकीय सेवाओं व घर-परिवार को जिम्मेदारीपूर्वक निभाते हुए जन-जन को भगवान का संदेष सुनाने के उद्देष्य से अथक होकर ईष्वरीय सेवाओं में अपने को व्यस्त रखा। इन 25 वर्षों के दौरान गांव व शहर के लोगों के नैतिक व चारित्रिक उत्थान के लिए 27 गांवों में ब्रह्माकुमारी पाठषाला की स्थापना के वे निमित्त बने।
सांस्कृतिक प्रस्तुतियों ने बढ़ायी कार्यक्रम की शोभा…

इस बहुआयामी कार्यक्रम में विविध सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गईं जिसमें ब्र.कु. शषी बहन, होरी भाई व अमर भाई ने गीत गाया। कु. गौरी व ब्र.कु. ईष्वरी, श्यामा व नीता बहन ने लाली-लाली फूलवा मंदार…गीत पर, बंटी भाई ने समर्पण समारोह पर आधारित गीत…तारों सा चमकता गहना हो…पर नृत्य प्रस्तुत किया। कु. तनु, कु. दिव्या, कु. षिखा व कु. गौरी  द्वारा प्रस्तुत भावपूर्ण नृत्य-नाटिका ‘समर्पण-समारोह को देखकर सभी मंत्रमुग्ध हो गए।
ग्रामीण भाई-बहनों के साथ मनाया नववर्ष स्नेह मिलन कार्यक्रम
बिलासपुर शहर व आसपास के गांव से पधारे ग्रामीण भाई-बहनों के साथ नववर्ष स्नेह मिलन मनाते हुए मंजू दीदी ने उन्हें सत्संग कराया। टिकरापारा के साधकों के लिए 21 संकल्पों के साथ मनाए जा रहे नववर्ष से गांव के भाई-बहनों को भी अवगत कराया गया और सभी को इन संकल्पों को दृढ़ता से अमल में लाने के लिए प्रेरित भी किया गया। कार्यक्रम के पश्चात् सभी को ब्लेसिंग कार्ड देते हुए ब्रह्माभोजन कराया गया। इस ब्रह्माभोजन को मंजू दीदी के द्वारा सेवाकेन्द्र की मीडिया प्रभारी उषा साहू की 6 महीने की पोती कु. अर्णा को खिलाकर अन्न प्राषन संस्कार किया।
प्रति,
भ्राता सम्पादक महोदय,
दैनिक………………………..
बिलासपुर (छ.ग.)

Source: BK Global News Feed

Comment here