Uncategorized

समाज सुधार से पूर्व स्वयंसुधार के लिए बनाएं योजना- ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी

 

सादर प्रकाषनार्थ
प्रेस विज्ञप्ति
समाज सुधार से पूर्व स्वयंसुधार के लिए बनाएं योजना- ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी
नए वर्ष में नई क्रांति के लिए पूर्व तैयारी जरूरी
ब्रह्माकुमारीज़ छ.ग. इंन्दौर जोन के स्वर्ण जयंती व पिताश्री ब्रह्माबाबा की 51 वें पुण्यतिथि पर कार्यक्रम का आयोजन
शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के लिए समय देना, प्रतिदिन सत्संग करना, सभी को दुआ देना… जैसे जीवनसुधार के संकल्प दिए गए…

बिलासपुर, टिकरापाराः- नए वर्ष के आगमन में एक माह से भी कम समय रह गए हैं। नए वर्ष में हमारे जीवन में कुछ नवीनता आनी ही चाहिए। कुछ बुरा छोड़ने का संकल्प न भी हो तो कुछ अच्छा अपनाने का संकल्प जरूरी है क्योंकि अच्छा अपनाने में हम इतने व्यस्त होंगे कि बुराई तो स्वतः ही छूट जाएगी। संकल्प चुनने के लिए आपको स्वयं का विष्लेषण करना होगा कि हमारे जीवन में क्या अपनाने की जरूरत है। फिर भी कुछ बातें ऐसी है जिसे जीवन में अमल में लाने से सभी को लाभ अवष्य होगा। जरूरी नहीं कि वह लाभ केवल धन का हो, वह शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य का, संबंधों में मधुरता लाने का या पुण्य कर्मों की कमाई जमा करने का लाभ भी हो सकता है।
उक्त बातें टिकरापारा सेवाकेन्द्र में उपस्थित साधकों को संबोधित करते हुए सेवाकेन्द्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी मंजू दीदी जी ने कही। आपने साधकों को सन 2020 के लिए कुछ संकल्पों को अपनाने के लिए प्रेरित किया जिसमें प्रतिदिन सत्संग करना, नाश्ते, भोजन व रात्रि भोजन से पूर्व सत्संग की पांच मुख्य बातों का मनन-चिंतन करना तथा सत्संग पर आधारित स्वमान का पांच-पांच बार अभ्यास करना, हमेषा सच बोलना, शारीरिक स्वास्थ्य के लिए फिज़ीकल एक्सरसाइज व प्राणायाम के लिए समय निष्चित करना, हमसे कोई कैसा भी व्यवहार करे, सभी को दुआएं देना, रात्रि सोने से पूर्व अपने सुरक्षित, खुषनुमा व संपन्न जीवन के लिए धन्यवाद देते हुए आधा घण्टा मेडिटेषन और पांच-पांच बार भ्रामरी व उद्गीथ प्राणायाम (ओम उच्चारण) करना आदि संकल्पों को पूरे साल भर के लिए अपनी दिनचर्या बनाने के लिए प्रेरित किया।
संस्था के छ.ग. सहित इंदौर के स्वर्ण जयंती व पिताश्री ब्रह्माबाबा के 51वीं पुण्यतिथि 18 जनवरी के उपलक्ष्य में 50 दिवसीय योग साधना का शुभारम्भ
दीदी ने जानकारी दी कि संस्था के इंदौर जोन के पचास वर्ष पूरे होने पर मनाए जा रहे स्वर्ण जयंती वर्ष व 18 जनवरी 2020 को संस्था के संस्थापक पिताश्री ब्रह्माबाबा की 51वीं पुण्यतिथि के अवसर पर सेवाकेन्द्र के शान्ति अनुभूति कक्ष – ‘बाबा की कुटिया’ में प्रतिदिन एक घण्टे विष्व की दुखी, अषांत व पीड़ित आत्माओं को शांति का दान देने के लिए पचास दिवसीय योग साधना कार्यक्रम का दीप जलाकर मंजू दीदी, ब्र.कु. हेमवती, ब्र.कु. पूर्णिमा, ब्र.कु. ईष्वरी व 25 गांवों में ब्रह्माकुमारी पाठषाला की स्थापना के निमित्त भ्राता जनकराम छत्री जी के द्वारा उद्घाटन किया गया।

भ्राता सम्पादक महोदय,
दैनिक………………………..
बिलासपुर (छ.ग.)

 

Source: BK Global News Feed

Comment here