Uncategorized

Sarangpur,m.p.:-yoga day celebrated in Sarangpur.

प्रेस न्यूज 21 जून अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस ।
ब्रह्माकुमारी भाग्यलक्ष्मी दीदी ने ग्राम कोलूखेड़ा में ग्रामीण जनों के साथ मनाया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस,ग्रामीण जनों को बताए राजयोग के प्रयोग।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय सारंगपुर सेवा केंद्र प्रभारी भाग्यलक्ष्मी दीदी ने ग्राम कोलूखेड़ा में जाकर ग्राम वासियों को शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक रूप से सशक्त बनने हेतु आत्मा का परमात्मा से सुंदर मिलन अर्थात राजयोग की सरल और सहज विधि ग्रामीणों जनों को समझाई साथ ही योग अनुभूति भी कराई।दीदी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के शुभ अवसर पर अपने वक्तव्य में कहा कि राजयोग का प्रयोग हम अपनी दिनचर्या को सुव्यवस्थित बनाकर परमात्म शक्तियों को अर्जित कर अपने जीवन के उत्थान और एक सुंदर समाज के नवनिर्माण में कर सकते है।योगा अर्थात शारिरिक व्यायाम से हम शरीर को सुव्यवस्थित बनाते है ,शक्तिशाली बनाते है परंतु आत्मा की तीन दिव्य शक्तियां मन-बुध्दि-संस्कार को शक्तिशाली बनाने के लिए हमे शक्तियों औऱ गुणों के भंडार परमपिता परमात्मा से यथार्थ औऱ स्नेहमय संबंध बनाना आवश्यक है।परमात्मा की याद हमे गुणों से भरपूर बनाती है।कार्यक्रम में अतिथियों नगर सेठ भ्राता चैन सिंह जी,भ्राता भैरु सिंह जी,शासकीय महाविद्यालय के प्रोफेसर भ्राता आत्माराम पाटीदार जी,सारंगपुर सेवाकेंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी भाग्यलक्ष्मी दीदी ने ईश्वरीय स्मृति औऱ दीप प्रज्वलन कर किया।कार्यक्रम में भ्राता विद्द्याधर कुम्भकार जी एवं पाटीदार जी ने स्वस्थ शरीर के लिए शारीरिक व्यायाम के फायदे बताकर उनका प्रैक्टिकल अनुभव भी कराया।कुमारी तनु पुष्पद ने सांस्कृतिक नृत्य की प्रस्तुति से सबका मन मोह लिया।कुशल मंच संचालन ब्रह्माकुमारी प्रीति बहन ने किया।जितेंद्र भाई ने संस्था का परिचय देकर सभी को संस्था द्वारा किये जा रहे निस्वार्थ सेवा कार्यो से अवगत कराया। इस अवसर पर ग्राम के वरिष्टजन ,गणमान्य, ब्रह्माकुमारी संस्था के सदस्य एवं जनमानस ने कार्यक्रम में उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनाया।ग्रामीण जनो ने सारंगपुर से पधारी भाग्यलक्ष्मी दीदी जी का अभिवादन किया।और संस्था द्वारा जनकल्याण के निःस्वार्थ सेवा कार्यो की सराहना की।आभार विद्याधर जी ने किया प्रसाद वितरण कर कार्यक्रम का समापन हुआ।

Source: BK Global News Feed

Comment here