Uncategorized

वैश्विक प्रगति के साथ पर्यावरण सन्तुलन जरूरी… मुदित कुमार सिंह, प्रधान मुख्य वन सरंक्षक

प्रेस विज्ञप्ति

वैश्विक प्रगति के साथ पर्यावरण सन्तुलन जरूरी… मुदित कुमार सिंह, प्रधान मुख्य वन सरंक्षक

रायपुर, ०५ जून, २०१९: प्रधान मुख्य वन सरंक्षक मुदित कुमार सिंह ने कहा कि ने कहा कि अगर भविष्य को सुखद बनाना है तो वैश्विक प्रगति के साथ-साथ पर्यावरण सन्तुलन बनाए रखना जरूरी है। जब तक संवेदनशीलता नहीं आएगी और प्रकृति के साथ नहीं जुड़ेंगे पर्यावरण प्रदूषण को रोकना सम्भव नहीं है।

श्री मुदित कुमार सिंह प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय द्वारा विश्व पर्यावरण दिवस पर शान्ति सरोवर में आयोजित पर्यावरण महोत्सव का उद्घाटन करने के बाद अपने विचार रख रहे थे। उन्होंने कहा कि यह पर्व जून की तपती गर्मी में मनाने का एक कारण यह भी है कि हम गर्मी को देखकर यह सोचने पर मजबूर हो जाते हैं कि हम किस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं? हमें जगाने के लिए ही गर्मियों में पर्यावरण महोत्सव का पर्व मनाया जाता है।

उन्होंने कहा कि हम प्राचीन सभ्यता को छोड़कर और वेदों उपनिषदों में जो शिक्षाएं दी गई हैं उन्हें भूलकर विपरीत दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। हमारी संस्कृति एक दूसरे को जोडऩे वाली और एक दूसरे को सम्मान देकर आगे बढ़ाने वाली संस्कृति थी। किन्तु वर्तमान स्थिति को देखकर हम सोचने पर विवश हो जाते हैं कि कहीं हम विध्वंश की ओर तो नहीं बढ़ रहे हैं? समाज, देश और व्यक्ति के लिए प्रगति जरूरी है किन्तु प्रगति विकास की पूरक हो।

उन्होंने आगे कहा कि आप कितना भी पढ़ लिख लें किन्तु जब तक आप अपनी सोच को बदलेंगे नहीं तब तक उसे मूर्त रूप देना सम्भव नहीं है। सोच को बदलने के कार्य में ब्रह्माकुमारी संस्थान का प्रयास सराहनीय है। आज सबसे अधिक आवश्यकता अपनी सोच को सकारात्मक बनाने की है।

उन्होंने कहा कि हरेक व्यक्ति पहले अपना और बाद में समाज का हित देखता है। उन्होंने कहा कि पहले हमें अपने आपको सुधारना होगा। हम सरकार पर निर्भर न रहें। हम अपने आसपास वातावरण को स्वच्छ रखने का प्रयास करें। उन्होंने शासन के नरवा, गरवा, घुरवा और बारी योजना की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह प्रकृति के साथ जुडऩे का अच्छा प्रयास है।

क्षेत्रीय निदेशिका ब्रह्माकुमारी कमला दीदी ने अपने आशीर्वचन में कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रकृति को समर्पित दुनिया भर में मनाया जाने वाला सबसे बड़ा उत्सव है। उन्होंने बतलाया कि ब्रह्माकुमारी संस्थान द्वारा सारे विश्व में पर्यावरण जागृति के लिए किए जा रहे प्रयासों को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र ने हमारी संस्थान को आब्र्जवर स्टेटस प्रदान किया है। उन्होंने बतलाया कि मानव और प्रकृति के सम्बन्ध को ही हम पर्यावरण कहते हैं। मनुष्य के स्वार्थ और अज्ञानवश पर्यावरण असन्तुलित हुआ है।

इससे पहले ब्रह्माकुमारी रूचिका दीदी ने कहा कि सभी समस्याओं की जड़ मानसिक प्रदूषण है। जब तक हमारे अन्दर काम, क्रोध, लोभ मोह, और अहंकार आदि विकार भरे हैं तब तक हमारा मन शुद्घ और पवित्र नहीं हो सकता। इसलिए बाहरी स्वच्छता से पहले अन्तर्मन को स्वच्छ करना जरूरी है।

इस अवसर पर छोटे-छोटे बाल कलाकारों ने सुन्दर नृत्य नाटिका के माध्यम से प्रकृति को बचाने का सन्देश दिया। बाद में मुदित कुमार सिंह ने शान्ति सरोवर में वृक्षारोपण कर पर्यावरण महोत्सव का शुभारम्भ किया।

प्रेषक: मीडिया प्रभाग,
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय
रायपुर फोन: ०७७१-२२५३२५३, २२५४२५४


for media content and service news, please visit our website-
www.raipur.bk.ooo

Source: BK Global News Feed

Comment here