Uncategorized

“सड़क सुरक्षा का आधार स्वस्थ मन और सद्व्यवहार” – बी.के. आदर्श दीदी

“सड़क सुरक्षा का आधार स्वस्थ मन और सद्व्यवहार” – बी.के. आदर्श दीदी

ग्वालियर: माधवगंज लश्कर स्थित प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की सहयोगी संस्था राजयोग एजुकेशन एण्ड रिसर्च फाउंडेशन के ‘यातायात एवं परिवहन प्रभाग’ द्वारा 6 मई से 12 मई United Nations द्वारा घोषित अंतराष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत कार्यक्रम किया गया | जिसकी UN द्वारा बतायी हुई Theme: ‘Leadership for Road Safety’ थी I जिसका उददेश्य सड़क सुरक्षा, सड़क दुर्घटनाओं के प्रति लोगों को जागरूक करना था I कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन के साथ किया | कार्यक्रम में मुख्य रूप से गुरुनानक ट्रेवल्स से सतीश अरोरा, सत्यम ट्रेवल्स से अजीत सिंह भदौरिया, राजयोगिनी बी के आदर्श दीदी जी (संचालिका लश्कर सेवाकेंद्र), बी के प्रहलाद भाई (सीनियर राजयोग टीचर), बी के आरती बहिन , बीके आशा बहिन (समाज सेविका) एवं संस्थान के अनेकानेक भाई-बहिन उपस्थित थेI

कार्यक्रम के शुभारंभ में बीके प्रहलाद भाई ने कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारीज की सहभागिता का उद्देश्य बताया :

1.प्रतिभागियों को मानसिक तनाव, गति और सुरक्षा के बीच की कड़ी समझने में मदद करना I

2.मन को शांत करने के सरल तरीके बताना ताकि यात्री राही समय पर सही फेसले कर सकें और नियमों का पालन करें I

3. दैनिक यात्रा में आध्यात्मिक जीवन-कौशल अपनाने का नया प्रयोग साझा करना I

4. आत्म सम्मान और निजी जिम्मेदारी की भावना को बढावा देना जिससे सड़क सुरक्षा को अपनी संस्कृति बना सकेंI

साथ ही संस्थान द्वारा विश्व भर में चलाये जा रहे प्रोजेक्ट “Road safety through spiritual life skills” के बारे में सभी को बताया और सभी से कहा की अगर यहाँ बैठे हुए या इसे पढ़ रहे लोग यदि सड़क नियमों का पालन करेंगे तो हम अपना जीवन भी सुरक्षित कर सकेंगे साथ ही और लोगों को भी प्रेरणा दे सकेंगे I

सेवाकेंद्र संचालिका राजयोगिनी बी.के. आदर्श दीदी जी ने अपने उद्बोधन में सभी को सड़क सुरक्षा के लिए जागरूक रहने के लिए कहा और सभी कैसे इन आकस्मिक दुर्घटनाओं का शिकार होने से बच सकते हैं यह स्पष्ट किया इसके लिए सबसे जरुरी मन की शांति व आंतरिक स्थिरता के भी महत्व को स्पष्ट किया और बताया कि कैसे वर्तमान समय प्रत्येक व्यक्ति का मन अस्थिर है सभी डर, चिंताओं और व्यर्थ विचारों से घिरे हुए हैं जो कि व्यक्ति की एकाग्रता को प्रभावित करते हैं और व्यक्ति आकस्मिक दुर्घटनाओं का शिकार हो जाता हैI साथ ही दीदीजी ने जोर देते हुए सभी से कहा कि हम सभी को यातायात के नियमों का दृढ़ता से पालन करना चाहिए, जो दो पहिया वाहन चलाते है उन्हें हेलमेट पहनकर ही चलना चाहिए और जो चार पहिया वाहन चलाते है उन्हें हमेशा शीट वेल्ट का प्रयोग करना चाहिए | हमें ट्राफिक नियमों के बारे में पता तो होता है लेकिन हम कई बार इसको नजरअंदाज कर देते है | जो की स्वयं को ही खतरे में डालना है साथ ही सभी को रेड लाइट होने पर पर रुकना चाहिए और इस समय का सही सदुपयोग करना है तो एक मिनट का अपने दिमाग को सभी चिंताओं, परेशानियों और डर को विराम लगाकर ईश्वर को याद करें और आसपास खड़े लोगों को सकाश दें सबके प्रति शुभभावना रखें कि सबका जीवन सुरक्षित हो I साथ ही सड़क पर चलते समय परमपिता की याद से शांति के प्रकम्पन फेलाते चलें इससे कोई भी व्यक्ति अकस्मात् ऐसी सड़क दुर्घटनाओं की गिरफ्त में न आयें और हमेशा सुरक्षित रहें I दीदी जी ने कुछ स्लोगन भी बताये “क्यों दें मौत को निमंत्रण गति का करें नियंत्रण” ”थोड़ी भी होगी शराब की मात्रा अच्छी ना होगी जीवन की यात्रा”I और सभी को अपनी शुभकामनायें दीं I कार्यक्रम में पधारे हुए अतिथियों ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किये | कार्यक्रम के अंत में बी.के. प्रह्लाद भाई जी के द्वारा सभी को यातायात नियमों का पालन करने के लिए शपथ दिलाई गयी और सभी का धन्यवाद किया गयाI कार्यक्रम का कुशल संचालन बीके आशा बहिन के द्वारा किया गया I

#gallery-1 {
margin: auto;
}
#gallery-1 .gallery-item {
float: left;
margin-top: 10px;
text-align: center;
width: 33%;
}
#gallery-1 img {
border: 2px solid #cfcfcf;
}
#gallery-1 .gallery-caption {
margin-left: 0;
}
/* see gallery_shortcode() in wp-includes/media.php */

Source: BK Global News Feed

Comment here