Uncategorized

Navratri @ Tosham 8 April 2019

नवरात्रि से पहले अपनी आसुरी वृत्तियों का नाश करें… ब्रह्माकुमारी चंद्र कला दीदी

 भुरटाना सेवा केंद्र प्रभारी ब्रह्माकुमारी चंद्रकला दीदी ने कहा कि नवरात्रि से पहले घर की सफाई के साथ-साथ अपने संस्कारों की भी सफाई करें। आसुरी वृत्तियों का नाश होने के बाद ही देवी का आह्वान करना चाहिए। यही नवरात्रि मनाने की विधि है। हमेशा सोचें कि मैं दिव्य और शक्तिशाली आत्मा हूँ। परमात्मा की सन्तान हूँ। इससे कमजोरियों को दूर करने में मदद मिलेगी।ब्रह्माकुमारी चंद्रकला दीदी प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय तोशाम द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रही थीं। ब्रह्माकुमारी चंद्र कला दीदी ने आगे कहा कि सारे दिन में हम जिन लोगों के सम्पर्क में आते हैं, उनकी कमी कमजोरियों का चिन्तन करते-करते वह हमारे चित्त का हिस्सा बन जाते हैं। इसलिए हमेशा दूसरों की विशेषताएं देखने की आदत डाल लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पूजा मत करो बल्कि दैवी गुणों को धारण करके पूज्यनीय बनो।

तोशाम सेवा केंद्र प्रभारी बी के मंजू ने सभा में उपस्थित लोगों को राजयोग मेडिटेशन सीखने का सुझाव देते हुए बतलाया कि मेडिटेशन से जीवन में शान्ति की अनुभूति होती है। उन्होंने कहा कि रोज सुबह उठकर मोबाईल चेक करने की बजाय परमात्मा का स्मरण करना चाहिए। हम लोग जीवन में छोटी-छोटी बातों को पकडक़र बैठ जाते हैं। चिन्तन करके उन कमजोरियों को निकालने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने सभा में उपस्थित लोगों से कहा कि आज उन कमजोरियों को स्वाहा कर दें। अपने श्रेष्ठ तकदीर का वाह-वाह करें। इससे ही जीवन में भी वाह-वाह होगी। संस्कार बदलना बहुत मुश्किल होता है किन्तु राजयोग के अभ्यास से संस्कार बदल जाते हैं।

कार्यक्रम के अंत में शिव धव्ज भी फहराया गया | इस अवसर पर सुनीता , कविता , भव्या ,नीरज ,नरेश , शालू, ज्योति , राज, नैना , संतोष आदि मौजूद थे

#gallery-1 {
margin: auto;
}
#gallery-1 .gallery-item {
float: left;
margin-top: 10px;
text-align: center;
width: 33%;
}
#gallery-1 img {
border: 2px solid #cfcfcf;
}
#gallery-1 .gallery-caption {
margin-left: 0;
}
/* see gallery_shortcode() in wp-includes/media.php */

Source: BK Global News Feed

Comment here