Uncategorized

सिंगोली में राजयोग साधना केन्द्र का भव्य शुभारंभ एवं विशाल वाहन रैली निकाली गई

राजयोग मेडिटेशन जीवन जीने की सहज एवं सुंदर कला है– सविता दीदी

 

सिंगोली के इतिहास में इतना सुसभ्य अनुशासित आध्यात्मिक समागम आज तक नहीं देखा– पूर्व विधायक

दि.10.3.19,          “वर्तमान कलियुग समापन के इस चरम वातावरण में और भयानक सामाजिक, प्राकृतिक एवं विश्व–देशीय परिस्थितियों में राजयोग मेडिटेशन व्यक्ति को हर परिस्थिति में अपने आपको समायोजित कर सरल, सहज और खुशहाल जीवन जीने का विश्वास उत्तपन्न करता है । सिंगोली के लिए राजयोग साधना केन्द्र एक अनमोल ईश्वरीय वरदान सिद्ध होगा ।” उक्त विचार नीमच जिले  की सिंगोली तहसील में राजयोग साधना केन्द्र के शुभारंभ अवसर पर आयोजित विशाल आध्यात्मिक समागम को सम्बोधित करते हुए अन्तर्राष्ट्रीय  ब्रह्माकुमारी संस्थान की सबझोन संचालिका राजयोगिनी बी.के.सविता दीदी ने व्यक्त किये । पूर्व विधायक व जैन समाज के एक सशक्त स्तंभ दुलीचन्द जी जैन ने अपने संबोधन में कहा कि सिंगोली के लिए ये परम सौभाग्य है कि इतने छोटे स्थान पर इतनी विशाल अन्तर्राष्ट्रीय संस्था ब्रह्माकुमारी ने तनाव मुक्ति के लिए राजयोग साधना केन्द्र का प्रकल्प उपलब्ध करवाया है, इतनी शालीनता, सुसभ्यता और भारतीय संस्कृति से ओतप्रोत एैसा आयोजन सिंगोली में मैंने पहली बार देखा है तथा यह चमत्कार देखकर अभिभूत हूँ कि 25-26 वर्षा से ब्रेन कैंसर झेल रहे व्यक्ति को खुशहाल रूप में इस मंच का संचालन करते हुए देख पा रहा हूँ अवश्य ही राजयोग की शक्ति महान होगी । आप इस कार्यक्रम के सूत्रधार एवं संचालक ब्रह्माकुमारी संस्थान के नीमच एरिया डायरेक्टर राजयोगी बी.के.सुरेन्द्र जैन के बारे में विशाल जनसभा में उपस्थित लोगों को बता रहे थे । कार्यक्रम की शुरूआत में नीमच की कु. वैदिका गेहलोत ने सुंदर स्वागत नृत्य प्रस्तुत किया तत्पश्चात सिंगोली के नवीन राजयोग साधना केन्द्र की प्रभारी राजयोगिनी बी.के.महानन्दा दीदी ने सभी अतिथियों का स्वागत किया तथा मीना दीदी ने सभी को आत्म स्मृति का चंदन तिलक प्रदान किया । कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि नगर परिषद सिंगोली की अध्यक्षा श्रीमती सुनिता राजकुमार मेहता ने सिंगोली नगर में रायजोग केन्द्र की स्थापना के लिए ब्रह्माकुमारी संस्थान का कोटिश: आभार व्यक्त किया एवं कहा कि मैं स्वयं भी राजयोग साधना का लाभ अवश्य लूंगी साथ ही नगरवासियों से भी आव्हान करूंगी कि वे इस सुअवसर का लाभ लें और अपने जीवन को तनाव मुक्त बनाए । इस अवसर पर नगर के सुविख्यात समाजसेवी एवं विभिन्न समाजों के प्रमुख जिनमें सर्व श्री घीसालाल जी पटवा, श्री प्रकाश जी नागौरी, श्री जिनेन्द्र जी पितलिया, श्री राधेश्याम पालीवाल आदि ने भी संबोधित कर साधना केन्द्र की सफलता हेतु शुभकामनाऐ व्यक्त की । कार्यक्रम का सर्वाधिक आकर्षणमय दीप प्रज्जवलन कार्यक्रम एवं विशाल जनसमुदाय द्वारा खड़े होकर सर्वशक्तिवान परमात्मा के सम्मान में ध्यान और विश्व शांति का आव्हान किया गया । इस दीप प्रज्जवलन कार्यक्रम में सभी मंचासीन अतिथियों के अलावा श्री प्रकाश गांधी, डॉ. सरफराज हुसैन, हीरालाल धाकड़, राजेन्द्र कुमार जैन, अतुल कुमार मेहर, रामलाल धाकड़, हरीश शर्मा, मोहनलाल धाकड़, अजीत जैन, मुकेश माहेश्वरी आदि अनेक प्रमुख लोगों जिनमें व्यापारी, पत्रकार, चिकित्सक, समाजसेवी, किसान, शिक्षाविद् आदि बुद्धिजीवी वर्ग ने सम्मिलित होकर इस कार्यक्रम की सफलता में सहयोग दिया । सर्वाधिक सुखद पल जब सभी को महसूस हुआ कि कार्यक्रम संचालक बी.के.सुरेन्द्र जैन एवं राजयोगिनी सविता दीदी के आव्हान पर व्यसन मुक्ति एवं नशा अथवा गुटखा छोड़ने हेतु विप्र समाज के एक प्रतिष्ठित व्यक्ति द्वारा गुटखे का त्याग कर मंच पर ही गुटखे के पाउच सविता दीदी के श्रीचरणों में समर्पित किये और शपथ ली की आजीवन में नशा मुक्त रहकर और एक उच्च स्तरीय राजयोगी साधक बनकर ही समाज को सकारात्मक संदेश दूंगा।  अंत में आभार प्रदर्शन राजयोग साधना केन्द्र की स्थापना में प्रमुख रूप से सक्रिय एवं सहयोगी पूर्व शिक्षा अधिकारी छोगालाल सगीतला ने किया । उपस्थित सभी जनसमुदाय ने राजयोग साधना केन्द्र का अवलोकन किया एवं गहन शांति अनुभूति कक्ष का दर्शन कर पवित्र प्रसाद भी प्राá किया । इस आध्यात्मिक समागम की शुरूआत के पूर्व नगर में लगभग 1 किलोमीटर लम्बी विशाल वाहन रैली निकाली गई जिसमें सवार सैंकड़ों राजयोगी साधकों ने शिवध्वज लहराते हुए सभी नगर वासियों को शांति एवं सद्भावना का संदेश दिया ।

Source: BK Global News Feed

Comment here