Uncategorized

Raman: 83 Mahashivratri celebration

रामां मेँ महाशिवरात्रि के पावन पर्व को बहुत धूमधाम से मनाया गया | जिसमे भटिंडा सब-जोन  इंचार्ज कैलाश दीदी जी व आशा बहन और हॉलैंड से माइक भाई भी पधारे |

भटिण्डा सब-जोन के मुख्य संचालिका  राजयोगिनी  कैलाश दीदी जी ने महाशिवरात्रि का अध्यात्मिक रहस्य बताते हुए अपने विचार रखे। वर्तमान समय गीता में वर्णित धर्मग्लानि का समय है जबकि कल्याणकारी शिव इस कलियुग की घोर रात्रि में आकर हमें आत्मा ,परमात्मा सृष्टि चक्र एवं कर्माे की गुह्य गति का ज्ञान देकर सतयुग रूपी दिन की स्थापना कर रहे हैं । अतः हम सभी इस महाशिवरात्रि पर्व को सच्चे आध्यात्मिक अर्थ में मनायें उन पर अक के फूल कांटे चढाने के बदले मन की बुराईयों, कमी कमजोरियों को पहचान, परमात्मा पर अर्पित करे | एक दूसरे के प्रति वैरभाव, दुख देने बदला लेने की भावना रुपी विषैली आदतों का त्याग करें,व्यर्थ व अशुद्ध विचारों का त्याग कर सबके प्रति शुभ व कल्याण की भावना रखने का व्रत लें, तब परमात्मा हमसे प्रसन्न होंगे।

महाशिवरात्रि सभी पर्वो में विशेष पर्व है क्योंकि यह स्वयं सर्वशक्तिवान एवं स्वयंभू परमात्मा शिव के इस मनुष्य सृष्टि पर अवतरित होकर मनुष्य आत्माओं को उनके पाप कर्म और दुखों से मुक्त कर पुनः इस धरती पर स्वर्ग अथवा सतयुग स्थापन करने का यादगार है । जब इस धरती पर अज्ञान की काली रात छा जाती, अर्थात् सम्पूर्ण विश्व मे मानव जीवन में दुख अशान्ति और तमोप्रधानता बढ जाती ऐसी अज्ञान अंधेरी रात में परमात्मा का अवतरण होता है ।

अतः  सभी ब्रह्माकुमारी बहनो ने मिल कर केक काट कर परमात्मा का जन्मदिन मनाया व  परमपिता परमात्मा का ध्वज लहराया और ध्वज  के  नीचे बी.के आशा बहन  ने प्रतिज्ञा रूपी व्रत दिलाये, अंत में रामां की संचालिका बी.के मधु दीदी जी ने आये हुए सभी मेहमान गणों का धन्यवाद किया

#gallery-2 {
margin: auto;
}
#gallery-2 .gallery-item {
float: left;
margin-top: 10px;
text-align: center;
width: 50%;
}
#gallery-2 img {
border: 2px solid #cfcfcf;
}
#gallery-2 .gallery-caption {
margin-left: 0;
}
/* see gallery_shortcode() in wp-includes/media.php */

 

Source: BK Global News Feed

Comment here